Basic Ka Teacher.Com Welcomes you….बेसिक का टीचर. कॉम में आपका स्वागत है

Translate

Saturday, 4 February 2017

एटा: आयोग के निर्देश पर DM ने की कार्यवाही, बदले बूथ

डीएम विजय किरन आनन्द के कड़े तेवर.............

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर अलीगंज विधानसभा क्षेत्र में डीएम ने की बड़ी कार्यवाही
जांच के उपरान्त दस बूथों के स्थान में किया परिवर्तन
संलिप्तता पर संबंधित एसडीएम, तहसीलदार का आरोप पत्र शासन को भेजने के निर्देश
बीएलओ, लेखपाल पर मतदान के उपरान्त होगी एफआईआर दर्ज
50 से अधिक अन्य शिकायती बूथों की स्वतंत्र टीम करेेगी जांच
एटा। भारत निर्वाचन आयोग से प्रत्याशियों द्वारा की गई शिकायतों के उपरान्त जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरन आनन्द ने शुक्रवार को अपरान्ह में अचानक 103 अलीगंज विधानसभा क्षेत्र में पहुंचकर विभिन्न बूथों का जायजा लिया, साथ ही जांच के उपरान्त 10 बूथों के स्थान परिवर्तित कर रिपोर्ट भारत निर्वाचन आयोग को भेजने के निर्देश दिये। इतना ही नहीं डीएम ने बूथों के संभाजन में की गई भारी गड़बड़ी पर संबंधित एसडीएम, तहसीलदार का आरोप पत्र शासन को भेजने के भी निर्देश दिये, साथ ही मौजूदा तहसीलदार को कड़ी फटकार भी लगाई। डीएम ने इन बूथों के बीएलओ एवं संबंधित लेखपालों के खिलाफ भी 11 फरवरी को मतदान होने के उपरान्त एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये हैं। इसके साथ ही अन्य 50 से अधिक शिकायती बूथों की जांच हेतु दो सदस्यीय स्वतंत्र टीम का गठन कर तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश निर्गत किये हैं।
डीएम विजय किरन आनन्द एवं एसएसपी सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज द्वारा 103 अलीगंज विधानसभा क्षेत्र में अचानक पहुंचकर बूथ निर्धारण की स्थिति का जायजा लिया गया।
         डीएम, एसएसपी ने सर्वप्रथम निरीक्षण के दौरान पाया कि जनता इण्टर कालेज कैल्ठा पर स्थापित 5 बूथ 184, 185, 186, 187, 194 जिन पर लगभग 5 हजार से अधिक मतदाताओं द्वारा अपने मत का प्रयोग किया जाना है, भारत निर्वाचन आयोग मंे की गई शिकायत के उपरान्त डीएम ने उक्त बूथ का स्थान परिवर्तित करते हुए तहसील परिसर में स्थापित करने संबंधी रिपोर्ट आयोग को प्रेषित करने के निर्देश दिये, साथ ही तहसीलदार अलीगंज को निर्देश दिये कि तहसील परिसर में स्थापित होने वाले बूथ पर समस्त अवस्थापन सुविधाएं सुनिश्चित कराई जाये। तहसील परिसर में स्थापित बूथांे पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाये जायें, साथ ही दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताआंें की सुविधा हेतु रैम्प अवश्य तैयार की जाये, जिससे उन्हें वोट डालने में किसी भी प्रकार की असुविधा उत्पन्न न हो।
           तदोपरान्त डीएम, एसएसपी ने अमृतपुर रघूपुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय एवं प्राथमिक विद्यालय पर स्थापित बूथ 296, 297, 298 का भी निरीक्षण कर मतदाताओं द्वारा वोट डालने की स्थिति का जायजा लिया, उक्त बूथों पर भी डीएम को मतदाताओं के आने-जाने का मार्ग एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं ठीक नहीं लगी। डीएम ने इन 3 बूथों के स्थान परिवर्तित कर प्रा0वि0 गोराचम में स्थापित करने के निर्देश दिये, इस दौरान डीएम ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय अमृतपुर रघूपुर एवं प्रा0वि0 गोराचम की दूरी को भी अपने सामने नपवाकर चैक किया। इसके साथ ही गोराचम गांव के ग्रामीणों से भी वार्ता की और उन्हें आगामी 11 फरवरी को शतप्रतिशत मतदान करने हेतु प्रेरित किया।

        डीएम, एसएसपी ने भारत निर्वाचन आयोग मंे प्रत्याशियों द्वारा की गई शिकायत पर श्री गांधी स्मृति इण्टर कालेज मोहकमपुर पर बने बूथ संख्या 15 का भी निरीक्षण किया गया, जिसमें पाया कि उक्त बूथ गांव से काफी दूरी पर है जबकि मोहकपुर गांव में ही प्राथमिक विद्यालय भी स्थापित है, इसे बूथ बनाया भी जा सकता था, बूथ पर आने जाने का मार्ग भी ठीक पाया गया। डीएम ने श्री गांधी स्मृति इण्टर कालेज पर स्थापित बूथ संख्या 15 को बदलते हुए प्राथमिक विद्यालय मोहकमपुर पर ही स्थापित किये जाने के निर्देश दिये।
          डीएम द्वारा प्रा0वि0 नगला अजीत पर स्थापित बूथ संख्या 3 का भी निरीक्षण किया गया, जहां उन्होंने पाया कि नगला अजीत प्रा0वि0 मंे वोट डालने हेतु बूथ से 5 किलोमीटर से अधिक दूरी के गांव मदसुआ के वोटर आते हैं जिन्हें मतदान करने में काफी दिक्कत हो सकती है, क्यों न मदसुआ गांव में ही बने प्राथमिक विद्यालय में एक बूथ बनाकर मदसुआ गांव के वोट उसी गांव में स्थापित बूथ पर डलवाये जायें। एडीएम ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग की गाइड लाईन के अनुसार वोटर को 2 किलोमीटर की दूरी के अंदर स्थापित बूथ पर वोट डालना है। डीएम ने निर्देश दिये कि भारत निर्वाचन आयोग में जो भी शिकायतें की गई हैं वे काफी हद तक सही है, जिनका पूर्ण संज्ञान लेने के उपरान्त कार्यवाही की जा रही है।
         डीएम ने मौके पर पाया कि कई ऐसे बूथ हैं जिनका विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 लड़ने वाले प्रत्याशियों से किसी न किसी प्रकार से संबंध हैं, ऐसे बूथों पर निरीक्षण के दौरान कमियां पाई जा रही है, जिनके निराकरण हेतु स्वतंत्र टीम गठित कर तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करने हेतु भी निर्देशित किया गया है।

रिपोर्ट
राकेश कुमार
सूचना विभाग

No comments:

Post a Comment