Basic Ka Teacher.Com Welcomes you….बेसिक का टीचर. कॉम में आपका स्वागत है

Translate

Saturday, 2 June 2018

राज्य कर्मचारियों के लिये बड़ी खुशखबरी, एरियर का भुगतान 30 जून से पहले

राज्य कर्मचारियों के एरियर का भुगतान 30 जून से पहले

लखनऊ. राज्य कर्मचारियों के एरिया को लेकर बड़ी है। राज्य कर्मचारियों और पेंशनरों को सातवें वेतनमान के बकाए कि 50 फीसदी का भुगतान 30 जून से पहले किया जाएगा। यह आदेश शासन के द्वारा दिया गया है। एरियर भुगतान के बाद सरकार पर करीब 8900 का खर्च आएगा। इस एरियर का 80 फ़ीसदी कर्मचारियों के जीपीएफ में जाएगा तथा बाकी की धनराशि का 20% नगद भुगतान सरकार करेगी।

19 लाख राज्य कर्मचारियों, शिक्षकों और नगरीय स्थानीय निकायों के कर्मियों को इसका लाभ मिलेगा। साथ ही 11 लाख पेंशनरों को भी इसका लाभ मिलेगा। उत्तर प्रदेश सचिवालय पेंशन वेलफेयर एसोसिएशन एंड पार्टी के अनुसार पेंशनरों का सरकार नगद भुगतान करेगी। उन्होंने बताया कि पेंशनर हर महीने 2 हजार रुपये का लाभ उठाएंगे। राज्य कर्मचारी को 1 जनवरी 2016 से 31 दिसंबर 2016 तक पुनरीक्षित वेतन मैट्रिक्स में वेतन तथा महंगाई भत्ता के अवशेष का भुगतान किया जाना है। इससे पहले जारी हुए शासनादेश में यह व्यवस्था थी की बकाया एरियर के 50 फीसदी का भुगतान 2018-19 में तथा शेष राशि का भुगतान 2019-20 में किया जाएगा। 2018-19 के 50 फीसदी के भुगतान का आदेश हुआ है। राज्य कर्मचारियों को 20 फीसदी जो नकद भुगतान होगा वह टैक्स काटने के बाद उनके खाते में दिया जाएगा।
कर्मचारियों के जीपीएफ से भी कटेगा आयकर
बकाया भुगतान में कर्मचारी जिनकी देय आयकर 20 फीसदी से अधिक है। उनके खाते में नगद एक पैसा भी नहीं जाएगा उल्टा उन कर्मचारियों के जीपीएफ से भी टेक्स की धनराशि काटी जाएगी। भविष्य निर्वाह निधि में जमा की जाने वाली 80 फीसदी धनराशि 1 साल तक नहीं निकाली जा सकेगी। जिन कर्मचारियो को जीपीएफ खाता नहीं खुला है को देय अवशेष एनएससी या पीपीएफ में जमा की जाएगी। नई पेंशन योजना से आच्छादित करने को को कार्मिकों को अवशेष धनराशि के 10 फीसदी के बराबर टियर 1 पेंशन खाते में जमा की जाएगी। अवशेष 90 फ़ीसदी धनराशि कर्मिकों को उनके विकल्पों के आधार पर एनएससी या पीपीएफ में जमा करा दी जाएगी। कर्मचारियों को कुल फायदा जीपीएफ में जमा धनराशि का ही होगा। सरकार जो 20 फीसदी नगद देगी। अधिकांश कर्मचारियों को एक पैसा नहीं मिलना है यह 20 फ़ीसदी धनराशी टैक्स में ही कट जाएगी।

No comments:

Post a Comment