Basic Ka Teacher.Com Welcomes you….बेसिक का टीचर. कॉम में आपका स्वागत है

Translate

Friday, 19 June 2020

उत्तर प्रदेश में कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं को ले कर सरकार ने दी जानकारी, 30 जून के बाद होंगी आयोजित

उत्तर प्रदेश  में कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं को ले कर सरकार ने दी जानकारी, 30 जून के बाद होंगी आयोजित

 


यूपी के कॉलेज और यूनिवर्सिटी में 30 जून के बाद परीक्षाएं आयोजित होंगी

COVID-19 महामारी के कारण देशभर के सभी शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए थे. इसी के साथ बोर्ड परीक्षाओं से लेकर कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई थीं. इन सबके बाद अब उत्तर प्रदेश में यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में दोबारा से परीक्षाएं आयोजित कराने की तैयारी की जा रही है. उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने एक बयान में कहा कि राज्य में यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षाएं 30 जून के बाद से आयोजित की जाएंगी. उन्होंने सभी संस्थानों को परीक्षाएं आयोजित करने के लिए आवश्यक व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. 

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने सोशल मीडिया के जरिए कहा, "राज्य की यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में वार्षिक और सेमेस्टर परीक्षाएं 30 जून के बाद आयोजित की जाएंगी." उन्होंने ये भी लिखा, "उच्च शिक्षण संस्थानों में सत्र 2019-20 की परीक्षाएं सम्पन्न कराने हेतु एवं बी-एड-2020 की संयुक्त प्रवेश परीक्षा के आयोजन को सफल बनाने हेतु आवश्यक कार्यवाहियां सुनिश्चित कराई जाएं."

सेमेस्टर एग्जाम और सैनिटाइजेशन

मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने सभी संस्थानों को  परीक्षार्थियों के लिए एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर की व्यवस्था भी करने के आदेश दिए हैं. 

Monday, 15 June 2020

मानव सम्पदा पोर्टल पर डेटा ठीक करने की अंतिम तिथि बढ़ी, लॉगिन न करने वाले शिक्षकों का रुकेगा वेतन

मानव सम्पदा पोर्टल पर डेटा ठीक करने की अंतिम तिथि बढ़ी, 
30 June तक लॉगिन न कर डाटा सही ना करवाने वाले शिक्षकों का रुकेगा वेतन

Sunday, 7 June 2020

Wednesday, 3 June 2020

हाइकोर्ट स्टे के कारण 69000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया हुई स्थगित , विभागीय आदेश जारी

हाइकोर्ट स्टे के कारण 69000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया हुई स्थगित , विभागीय आदेश जारी



 मा0 उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश दिनांक 03.06.2020 के अनुपालन में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में गतिमान समस्त कार्यवाही स्थागित किये जाने का आदेश जारी

Big Breaking :- 69000 भर्ती पर स्टे

Big Breaking :- 69000 भर्ती पर स्टे

   उत्तर प्रदेश में 69000 शिक्षकों की भर्ती पर इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खण्डपीठ ने लगाई रोक।
Allahabad High Court Lucknow Bench
Case no. 8063
Petitioner Amita Tripathi & Others
Court No. 26
Justice. Hon. Alok Mathur Sir
Advocate. Senior adv Mr. Sudeep Seth & Avadhesh Shukla
आज हाईकोर्ट की लखनऊ खण्डपीठ ने कोर्ट नम्बर 26 में केस नंबर 8063/2020, अमिता त्रिपाठी व अन्य पर फैसला सुनाते हुए भर्ती प्रक्रिया स्थगित कर दी गई है। यूजीसी के चेयरमैन को पत्र लिखकर सारे विवादित प्रश्नों पर एक्सपर्ट ओपिनियन लिया जाएगा। बाकी डिटेल ऑर्डर आने पर।


Tuesday, 2 June 2020

69000 शिक्षक भर्ती :- विभिन्न जिलों की विज्ञप्ति देखें

69000 शिक्षक भर्ती :- विभिन्न जिलों की विज्ञप्ति देखें

आगरा

अलीगढ़

⭕कासगंज

यूपी शिक्षक भर्ती: 67867 अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट जारी

यूपी शिक्षक भर्ती: 67867 अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट जारी
=======================

_न्यूज डेस्क, अमर उजाला, प्रयागराज Updated Mon, 01 Jun 2020 10:29 PM IST_

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद ने परिषदीय प्राथमिक स्कूलों के लिए 67 हजार आठ सौ 67 सहायक अध्यापकों के चयन/नियुक्ति के लिए अनन्तिम चयन सूची जारी कर दी है। लिखित परीक्षा में 1133 एसटी अभ्यर्थी नहीं मिलने के चलते उनकी सीट खाली रखी गई है।

अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद की आधिकारिक वेबसाइट upbasiceduboard.gov.in  पर जाकर पूरी लिस्ट देख सकते हैं। परिषद की ओर से जारी सूची में किस अभ्यर्थी को कौन सा  जिला आवंटित किया गया है उसका विवरण है। शिक्षक भर्ती की 75 जिले की मेरिट कुल 2715 पेज में जारी की गई है।

तीन से छह जून के बीच होने वाली काउंसलिंग के लिए चुने गए अभ्यर्थियों का शिक्षक भर्ती के लिए चयन पक्का नहीं है। अभ्यर्थी को काउंसलिंग के दौरान आवेदन पत्र में प्रस्तुत प्रमाण पत्रों को प्रस्तुत करना होगा। काउंसलिंग में प्रमाण पत्रों को प्रस्तुत नहीं करने पर अभ्यर्थी का चयन नहीं होगा। 69 हजार शिक्षक भर्ती में सफल 1.46 लाख अभ्यर्थियों में से लगभग नौ हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन नहीं किए हैं। शिक्षक भर्ती में लगभग 1.37 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। इसमें पहली मेेरिट लिस्ट में 67,867 अभ्यर्थियों को शामिल किया गया है।

69 हजार शिक्षक भर्ती में 28 मई तक आवेदन लिया गया। शिक्षक भर्ती में तय पद 69 हजार से दो गुने से अधिक अभ्यर्थियों के लिखित परीक्षा पास होने से काउंसलिंग का महत्व बढ़ गया है। पहले चरण की काउंसलिंग में अनुपस्थित रहने वाले अभ्यर्थियों के बदले बाद में काउंसलिंग की तिथि जारी की जाएगी।  तय पदों से कम ही अभ्यर्थी लिखित परीक्षा पास कर पाए हैं लिहाजा काउंसिलिंग आदि जल्दी हो जाएगी। 
*तीन से छह जून के बीच होगी काउंसलिंग* 

बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से जारी पहले चरण की काउंसलिंग के लिए मेरिट के आधार पर 69 हजार अभ्यर्थियों में से 1133 एसटी की सीट को छोड़कर 67867 को काउंसलिंग के लिए बुलाया गया है।शिक्षक भर्ती में सफल 1.46 लाख अभ्यर्थियों में से नौ हजार से अधिक ने काउंसलिंग के लिए आवेदन नहीं किया है। इन अभ्यर्थियों में आवेदन पत्र में संशोधन की मांग करने वालों के साथ किसी दूसरी नौकरी के लिए चुन लिए गए अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि काउंसलिंग की सूची में शामिल होने का मतलब यह नहीं है कि उनका चयन पक्का हो गया है।
काउंसलिंग में जरूरी दस्तावेज
काउंसलिंग में अभ्यर्थी सभी शैक्षिक अभिलेखों की दो सेट में स्व प्रमाणित छाया प्रति, चार पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ एवं सचिव उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज के पदनाम से आवेदन शुल्क (सामान्य, ओबीसी के लिए 500, एससी-एसटी के लिए 200 एवं विकलांग के लिए नि:शुल्क) का बैंकड्राफ्ट लेकर शामिल होंगे। काउंसलिंग में 100 रुपये के नोटरी शपथ पत्र पर इस आशय की घोषणा करनी होगी कि ऑनलाइन आवेदन में भरी सभी सूचनाएं सही हैं। जनपद में नियुक्ति के उपरांत अंतर्जनपदीय स्थानांतरण की मांग नहीं करेंगे।
*हाईकोर्ट में सुनवाई के चलते मेरिट में देरी*

सहायक अध्यापक भर्ती की उत्तर कुंजी को लेकर हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सोमवार को ही सुनवाई के चलते बेसिक शिक्षा परिषद एवं एनआईसी के अधिकारियों को मेरिट जारी करने में देरी हुई। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव सहित दूसरे अधिकारी मेरिट की तैयारी के लिए रविवार को ही लखनऊ चले गए थे।

कोर्ट में सुनवाई के चलते अधिकारियों को मेरिट जारी करने में देरी हुई। कोर्ट से उत्तरकुंजी वाले मामले में फैसले की तिथि तीन जून तय कर देने के बाद मेरिट जारी करने की प्रक्रिया शुरू हुई।

*शासन की अनुमति मिलते ही सूची जारी*
बेसिक शिक्षा परिषद और एनआईसी की ओर से मेरिट सूची तैयार करके शाम तक शासन को भेज दिया गया था। शासन से अनुमति मिलने के बाद रात 10 बजे मेरिट लिस्ट जारी की गयी।

Monday, 1 June 2020

स्‍कूलों-कॉलेजों को खोलने के लिए एचआरडी मंत्रालय जल्‍द जारी करेगा गाइडलाइन, जानें कब शुरू होंगी स्‍कूली गतिविधि‍यां

स्‍कूलों-कॉलेजों को खोलने के लिए एचआरडी मंत्रालय जल्‍द जारी करेगा गाइडलाइन, जानें कब शुरू होंगी स्‍कूली गतिविधि‍यां

 
स्‍कूलों-कॉलेजों को खोलने के लिए एचआरडी मंत्रालय जल्‍द जारी करेगा गाइडलाइन, जानें कब शुरू होंगी स्‍कूली गतिविधि‍यां

*स्‍कूलों-कॉलेजों को कब खोलना है इसका निर्णय राज्यों पर छोड़ा जाएगा। जो अपनी स्थिति और तैयारियों के आधार पर इसका फैसला ले सकेंगे। ...*


 नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर लॉकडाउन-5 की शुरुआत हो चुकी है। साथ ही अनलॉक-1 भी शुरू हो गया है, जिसके तहत धीऱे-धीरे सभी गतिविधियों को शुरू किया जाना है। इनमें स्कूल- कालेजों का खुलना भी शामिल है, लेकिन इन्हें कब से खोलना है, इसका निर्णय राज्यों पर छोड़ा जाएगा। जो अपनी स्थिति और तैयारियों के आधार पर इसका फैसला ले सकेंगे। यही वजह है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय अब अपनी प्रस्तावित गाइडलाइन को सिर्फ सुरक्षा प्रबंधन तक ही सीमित रखेगा। फिलहाल मंत्रालय ने अगले एक-दो दिनों में ही स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय से चर्चा के बाद स्कूलों को खोलने के लिए सेफ्टी गाइडलाइन जारी करने के संकेत दिए है। 




*कई राज्‍यों ने जून से स्‍कूली गतिविधियों को शुरू करने के संकेत दिए*

इस बीच महाराष्ट्र, केरल सहित नार्थ-ईस्ट के कई राज्यों ने जून से ही स्कूली गतिवधियों को शुरू करने के संकेत दिए है। ऐसे में मंत्रालय भी सेफ्टी गाइडलाइन को जल्द जारी करने की तैयारी में है। मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक स्कूलों को सुरक्षित तरीके से खोलने के लिए गाइडलाइन बनाने का जिम्मा एनसीईआरटी को दिया गया था। जिसने गाइडलाइन तो सौंप दी है, लेकिन स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय के साथ चर्चा के बाद इसमें सुधार किए जा रहे है। सूत्रों के मुताबिक गाइलडाइन अब बुधवार को जारी की जा सकती है।


किस क्लास को पहले बुलाना है, इसका फैसला भी राज्य ही लेंगे

स्कूलों को खोलने के दौरान किस क्लास को पहले बुलाया जाए जैसे निर्णय में भी मंत्रालय की कोई दखल नहीं होगी। यह सारे निर्णय भी राज्यों के स्तर पर ही होंगे। हां इस बात पर जोर जरुर होगा, कि स्कूलों से जुड़े निर्णयों में अभिभावकों को जरूर शामिल किया जाए। यानी स्कूल अपनी ओर से एकतरफा कोई भी निर्णय नहीं ले सकेंगे। 


*केंद्रीय विद्यालय की 18 जून को खत्म हो रही गर्मी की छुट्टियां*

अनलाक-1 शुरू होने के साथ ही केंद्रीय विद्यालयों की गर्मी की छुट्टियां भी 18 जून से खत्म हो रही है। ऐसे में विद्लालय संगठन भी नई प्रवेश प्रक्ति्रया को शुरू करने की तैयारी में जुट गया है। हालांकि संगठन को अभी मंत्रालय के निर्देशों का इंतजार है, लेकिन जैसा माना जा रहा है, कि संगठन गर्मी की छुट्टियों के खत्म होते ही शैक्षणिक गतिविधियों को शुरू  कर देगा।