HAPPY NEW YEAR 2023

Translate

Thursday, 12 June 2014

72,825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में आई तेजी


72,825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में आई तेजी 72,825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में आई तेजी तीन दिन में पूरी करनी होगी डाटा फीडिंग बेसिक शिक्षा सचिव ने एनआईसी के साथ की समीक्षा बैठक प्रशिक्षु शिक्षकों के बारे में सारी जानकारी की जाएगी ऑनलाइन UPTET / टीईटी / TET - Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News लखनऊ। बेसिक शिक्षा सचिव ने 72,825 शिक्षकों की भर्ती के लिए प्रशिक्षु शिक्षकों से संबंधित डॉटा ऑनलाइन करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए एक्सेल पर उपलब्ध डाटा को एक्सेस पर ट्रांसफर करना होगा। इसके अलावा डाटा फीडिंग के काम में पिछड़ रहे जिलों को तीन दिन के भीतर हर हाल में यह काम पूरा कर लेने के निर्देश भी दिए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 25 जून तक 72,825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं। इसी के मद्देनजर बेसिक शिक्षा सचिव नीतीश्वर कुमार ने अपने दफ्तर में एनआईसी के डायरेक्टर समेत कई अफसरों के साथ भर्ती प्रक्रिया की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि भर्ती प्रक्रिया ठीक ढंग से पूरी करने के लिए जरूरी है कि डाटा एक्सेल से एक्सेस पर आए। जिन जिलों में यह काम नहीं हुआ है, उन्हें एससीईआरटी (राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद) के माध्यम से निर्देश जारी कर दिए जाएं। उन्होंने डाटा एनआईसी के साफ्टवेयर पर उपलब्ध हो जाने के बाद जिलों से इस बाबत प्रमाणपत्र लेने को भी कहा कि सारी एंट्री हो गई है। एनआईसी के अफसरों ने सुझाव दिया कि जिले के अधिकारियों के डिजिटल हस्ताक्षर से जिले के आंकड़ों को प्रमाणित करा लिया जाए। तय हुआ कि जिलों में एक्सेल से एक्सेस पर डाटा पोर्ट होने के बाद जिलों की एनआईसी के माध्यम से डाटा लखनऊ स्थित एनआईसी मुख्यालय को उपलब्ध कराया जाएगा। अगर अपलोड किए गए डाटा में कोई गड़बड़ी है, तो एससीईआरटी मुख्यालय पर गठित दो सदस्यीय समिति उस पर विचार करेगी। इन कामों के बाबत शासन की ओर से एससीईआरटी के निदेशक और विभाग की ओर से निदेशक, बेसिक शिक्षा एक एमओयू भी साइन करेंगे। बेसिक शिक्षा सचिव ने कहा कि जो जिले डाटा फीडिंग में पिछड़ रहे हैं, उन जिलों के डीएम को शासन की ओर से पत्र भेजा जाए कि हर हाल में वे यह काम तीन दिन में पूरा कर लें। यहां बता दें कि प्रशिक्षु शिक्षकों के चयन का आधार टीईटी परीक्षा के अंक हैं। इसलिए इन अंकों को प्राप्त करने के संबंध में प्रमुख सचिव (माध्यमिक शिक्षा) से भी संपर्क किया गया है।

No comments:

Post a Comment