Basic Ka Teacher.Com Welcomes you….बेसिक का टीचर. कॉम में आपका स्वागत है

Translate

Monday, 10 April 2017

11 अप्रेल की सुनवाई पर अभ्यर्थीयों की राय:

11 अप्रेल की सुनवाई पर अभ्यर्थीयों की राय:

29334 JRT Shikshakon Ki Taraf se >>
Indiver Kumar >>>
Jaisa Aapko morcha pariwar dwara bata diya gaya tha....... Apna case goyal ki court me jayega...... Wohi hua.....
Jaldi hi Ek aur dhamakedar news sabse pehle batai jayegi......
Tab tak 72825 bharti walo jara sambhal kar........

No Yachi no chachi.... .....aur no sm

***†******************^*****

Himanshu Rana>> 
3 जनवरी 2017 तक त्रिपुरा मामले को मा० न्यायमूर्ति चेलामेश्वर जी देख रहे थे उसके बाद अचानक वो मामला मा० न्यायमूर्ति गोयल साहब की बेंच में गया और उनके द्वारा फैसला सुनाया गया |
इनकी बेंच में एडजोर्नमेंट नहीं होता है आसानी से पर फिर भी स्टेट का रुख देखना होगा कि कहीं अभी सरकार के गठन की बात को कहकर भागने की कोशिश न करे |
लेकिन अब जो हो फाइनल हो ये ही महादेव से प्रार्थना है , रोज-रोज की कीच-कीच से अब आम बीएड टेट अभ्यर्थी ऊब चूका है |
हर हर महादेव
धन्यवाद
आपका____हिमांशु राणा
************************
Ayush Srivastava >>
नयी बेंच में जल्दी ही
शिक्षा मित्रों के दिन लदने वाले हैं।
खेहर साहब को पत्र लिखे गए थे 7 अप्रैल से पूर्व में
आज परिणाम सामने है खेहर साहब ने धुआंधार बेंच में सिविल अपील 4347 लगा दी।

दीपक जी के खेहर जी से खटपट किसी से छुपी नही है।
*********************
Shiksha Mitra :-

Pradesh Mantri Uppss added 2 new photos — with Sanyukt Samayojit Shikshak-Association Up and 4 others. >>>
सभी साथियों को अवगत कराया जाता है की 11, अप्रैल 2017 के लिए सुप्रीम कोर्ट में हमारे केस की सुनवाई जस्टिस श्री उदय उमेश ललित जी एवं जस्टिस श्री आदर्श कुमार गोयल जी की पीठ में तय हो चुकी है अब आप सभी से अनुरोध है कि सुनवाई के लिए सभी साथी अपनी कमर कस लें | आज छोटी सी गलती हमारा भविष्य बर्बाद कर देगी इसलिए 11 अप्रैल 2017 को होने वाली सुनवाई में के लिए कोई भी लापरवाही ना बरतें संगठन एक बार फिर से सीनियर वकीलों के साथ सुप्रीम कोर्ट में उतरेगा और जैसे की त्रिपुरा राज्य के केस में 2 दिन इसी बेंच के द्वारा लगातार सुनवाई की गई संभव है कि हमारी सुनवाई भी लगातार हो ऐसे में यदि की आर्थिक समस्या खड़ी होती है इसके लिए आप सब स्वयं जिम्मेदार होंगे | हमारी कोशिस है आने वाले समय में हमें अपने केस में सफलता मिले या कहीं नुकसान भी होता है तो वह आंशिक नुकसान हो | लेकिन कोशिस यही होगी की 170000 शिक्षा मित्रों का भविष्य चाहे जिस परिस्थिति में हो बचाया जाए इसलिए यही समय है अपनी पूरी ताकत दिखाने का इस बार अगर भूल हुई तो सुधारने का शायद मौका ना मिले उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ आपको विश्वास दिलाता है आपके द्वारा किए गए सहयोग के द्वारा हम पूरी मजबूती के साथ केस की सुप्रीम कोर्ट में पैरवी करेंगे | एवं 170000 शिक्षामित्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे |
धन्यवाद ! 
आपका 
कौशल कुमार सिंह ,प्रदेश मंत्री 

उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ|
*********************************

No comments:

Post a Comment