Basic Ka Teacher.Com Welcomes you….बेसिक का टीचर. कॉम में आपका स्वागत है

Translate

Sunday, 16 April 2017

*बच्चों ने कह दी ऐसी बात, शिक्षा मंत्री को भी नहीं सूझा जवाब*

*बच्चों ने कह दी ऐसी बात, शिक्षा मंत्री को भी नहीं सूझा जवाब*

बहराइच. उत्तर प्रदेश की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने शहर के एक प्राइमरी स्कूल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान स्कूल में बच्चों की संख्या काफी कम थी। मंत्री ने प्रधानाचार्य से कारण पूछा तो उन्होंन बताया कि आज गांव में शादी है इसलिए कुछ बच्चे स्कूल नहीं आए।
निरीक्षण के दौरान मंत्री की नजर स्कूल प्रांगड़ से बाहर भीड़ लगाए बच्चों पर पड़ी तो हकीकत जानने के लिए उन्होंने बच्चों को अपने पास बुलाया स्कूल न आने की वजह पूछी। शिक्षा मंत्री से बच्चों ने स्कूल आने की जो वजह बताई, हर कोई हैरान रह गया।
जिले में शिक्षा व्यवस्था की हकीकत जानने के लिए बेसिक शिक्षा मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल ने चित्तौरा ब्लाक के बढ़िहन बाग के एक प्राइमरी स्कूल का औचक निरीक्षण किया। बच्चों की संख्या कम देखकर प्रधानाचार्य से जवाब मांगा, लेकिन वह संतुष्ट न कर पाए तो मंत्री ने बाहर भीड़ लगाए बच्चों में से एक को अपने पास बुलाया औ पूछा कि स्कूल क्यों नही आएं? जिसके जवाब में उसने बड़ी मासूमियत से सीधा सा जवाब देते हुए कहा- गेहूं काटना था इसलिए नहीं आए।
बेसिक शिक्षा मंत्री ने यही सवाल दो और बच्चों से पूछा और उनका जवाब भी यही रहा। बच्चों का सीधा और कचोटने वाला जवाब सुनकर मंत्री जी सन्न रह गईं। उन्होंने स्कूल के अध्यापकों को निर्देश देते हुए कहा कि जो बच्चे नहीं आ रहे हैं उनके घर जाओ। परिजनों को समझाओ और उन्हें बच्चों को स्कूल जाने की बात सिखाओ।
अध्यापक महोदय जी ने भी कहा की हम पूरा प्रयास करते है तब ही इतने बच्चे स्कूल आ पाते है।हमारे विद्यालयो में किसान और मजदूर के बच्चे पढ़ते है जो जरुरत पड़ने पर अपने माता पिता के लिए कार्य के स्थान पर खाना लेकर जाते है और कुछ बच्चे घर बचाते है।और हम अध्यापक जो भी बच्चा मिलता है उसे घर से बुलाकर पढ़ाते है।हमारी समस्या और बच्चों की मजबूरी पर भी ध्यान दिया जाये।इस पर मंत्री जी ने कहा कि आप प्रयास करे इस समस्या पर शीघ्र ही विचार होगा।

No comments:

Post a Comment